एशियन पेंट्स: 17 साल में 7000 प्रतिशत का रिटर्न

21 मई,2021

8

1998

एशियन पेंट्स: 17 वर्षों में 7000% रिटर्न- स्मार्ट मनी
कुछ निवेश में इन्वेस्टर - नौसिखुए और एक्सपर्ट दोनों - को रूककर ठहरने पर मज़बूत करते हैं।

एशियन पेंट्स ऐसा ही स्टॉक इन्वेस्टमेंट का मौका बनकर उभरा है। यदि आंकड़ों पर भरोसा करें तो इस स्टॉक में अभी भी बढ़त हासिल करने की संभावना है। एशियन पेंट्स के स्टॉक स्टोरी पर ज़रा करीब से नज़र डालते हैं। 

एशियन पेंट्स के स्पॉटलाइट में रहने की वजह क्या है?

कई फैक्टर हैं जिन्होंने एशियन पेंट्स में रूचि जगाने में योगदान किया है। भारत और विदेश में ब्रोकरेज और यहाँ तक कि भारत में कुछ न्यूज़पेपर भी हाल में इस स्टॉक की लोकप्रियता बढ़ाने में योगदान कर रहे हैं। भारतीय और विदेशी ब्रोकरेज दोनों ही एशियन पेंट्स स्टॉक के लिए ऊंचा टारगेट प्राइस रख रहे हैं। 

पिछले दो दशक में इस स्टॉक की कीमत में लगातार बढ़ोतरी हुई है - इस शेयर बाज़ार के लॉन्ग टर्म इन्वेस्टर के लिए हरी झंडी के तौर पर देखा जा रहा है। मसलन, 2008 में स्टॉक की कीमत 100 रूपये से कम थी और आज वही स्टॉक 2500 रूपये से थोड़े अधिक पर मिल रहा है।  जनवरी 2021 में कीमत में काफी कमी से पहले यह स्टॉक 2020 के आखिर के आसपास 2,700 रूपये से थोड़े ऊपर के स्तर पर पहुँच गया था। इसके बाद इसमें तेज़ी बरकरार है। 

स्टॉक की कीमत से परे के आंकड़े

कई अन्य फैक्टर हैं जिनकी वजह से एशियन पेंट्स संभावित रूप से अधिक आय के निवेश का विकल्प दीखता है और ये सभी फैक्टर ठोस आंकड़ों में निहित हैं। साल 2020 की दिसंबर तिमाही में - या वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में - एशियन पेंट्स ने अपना उच्चतम मार्जिन और तिमाही मुनाफ़ा दर्ज़ किया।  तिमाही और वार्षिक रिपोर्ट लोकप्रिय ज़रियों में शामिल हैं जिससे इन्वेस्टर स्टॉक की लॉन्ग टर्म संभावनाओं का आकलन करते हैं। इस तिमाही में इसके परफॉरमेंस की मुख्य बातें इस प्रकार हैं:

  • कंसोलिडेटेड कुल इन्कम: 6,886.39 करोड़ रुपये ( पिछले वर्ष की इसी तिमाही के मुकाबले 27 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज़ हुई)
  • कुल इन्कम: 5,432.86 करोड़ रुपये (पिछले वर्ष की इसी  तिमाही के मुकाबले 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज़ हुई)
  • कुल इन्कम: 5,490.11 करोड़ रुपये 
  • कर पश्चात शुद्ध मुनाफा (नेट प्रॉफिट आफ्टर टैक्स) : 1,240.10 करोड़ रुपये 

नफरत करने वालों की बात का समाधान

बढ़िया अपवार्ड ट्रेजेक्टरी और बस तीन महीने पहले हुई गिरावट के बीच इन्वेस्टर की यह चिंता जायज़ है कि कहीं इस स्टॉक ज़रुरत से ज़्यादा तो नहीं है।  यदि आप ऑनलाइन कंटेंट पर नज़र डालें तो दरअसल ओपन फोरम में ऐसे सवाल दिख जाते हैं। इस पर एक्सपर्ट की राय यह है कि जो कंपनी लगातार इनोवेटिवनेस और निरंतर वृद्धि का प्रदर्शन करती उसके बारे में इन्वेस्टर को परेशान होने की ऐसी ज़रुरत नहीं है- खासकर यदि वे लंबे समय तक निवेश में रहना चाहते हैं।  

एशियन पेंट्स बनाम प्रतिस्पर्धी ग्रुप

वास्तव में, एशियन पेंट्स की क्षमता का सबसे अच्छा संकेतक यह है कि यह देश की अन्य पेंट कंपनियों के मुकाबले कैसा है। हम आपको आंकड़ों के बगैर समझाने की कोशिश नहीं करेंगे - चलिए हम शेयर बाजार के कुछ प्रमुख आंकड़ों पर विचार करते हैं।

  1. कीमत: इस ब्लॉग पोस्ट के लिखे जाने के समय तक एशियन पेंट्स के शेयर की कीमत 2,500 रुपये से कुछ अधिक थी जबकि इसकी प्रतिस्पर्धी कंपनियों बर्जर पेंट्स इंडिया के स्टॉक की कीमत 700 रुपये और कंसाई नेरोलैक पेंट के स्टॉक की कीमत 500 रुपये से थोड़ी अधिक थी। 
  2. स्टॉक की कीमत में बदलाव: एशियन पेंट्स के स्टॉक में जहाँ इस वक़्त 12.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दिख रही है वहीं बर्जर पेंट्स इंडिया के स्टॉक की कीमत में 6.45 प्रतिशत और कंसाई नेरोलैक पेंट में 2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज़ हुई। 
  3. नेट बिक्री: एशियन पेंट्स की नेट बिक्री 20,000 करोड़ रुपये से अधिक है, जबकि बर्जर पेंट्स की नेट बिक्री 6,000 करोड़ रुपये से थोड़ी अधिक है और कंसाई नेरोलैक की शुद्ध बिक्री 5000 करोड़ रुपये के स्तर से भी चूक गई। 
  4. कैपिटलाइज़ेशन: सभी तीन प्रमुख पेंट कंपनियां लार्ज-कैप हैं। 
  5. प्रति शेयर आय: एशियन पेंट्स का ईपीएस (प्रति शेयर आय) 28.66 रुपये है जबकि बर्जर पेंट्स का आंकड़ा 6.33 रुपये और कंसाई नेरोलैक का ईपीएस 8.81 रुपये है। 
  6. नेट प्रॉफिट मार्जिन: एशियन पेंट्स का नेट प्रॉफिट मार्जिन 13.39 प्रतिशत है, जबकि इसकी दोनों प्रतियोगी एक-दूसरे के करीब बस 10 प्रतिशत से अधिक हैं। 
  7. पी / ई अनुपात: एशियन पेंट्स का प्राइस-टू-अर्निंग (मूल्य और आय) अनुपात 89.25 है, जबकि बर्जर पेंट्स का पीई अनुपात 114.09 और कंसाई नेरोलैक पेंट का 62.82 है। आमतौर पर, कम पीई अनुपात बेहतर होता है। 
  8. पी / बीवी: एशियन पेंट्स का प्राइस टू बुक अनुपात 20 है जबकि बर्जर पेंट्स का आंकड़ा 22.33 और कंसाई नेरोलैक का 7.22 है।  आमतौर पर कम पी / बीवी अनुपात को बेहतर माना जाता है

 जैसा कि आप देख सकते हैं, एशियन पेंट्स ने 8 में से 6 मानकों में अपनी प्रतिस्पर्धी कंपनियों से आगे है जिन पर स्टॉक खरीदते समय ध्यान दिया जा सकता है। 

एथिकल इन्वेस्टर से अपील

निश्चित रूप से इन्वेस्टर का एक वर्ग है जो नैतिकता पर विचार करता है जो इस बात का ध्यान रखना चाहता है कि उनका पैसा किनका और किन चीज़ों का समर्थन करता है। एशियन पेंट्स ने हाल ही में कर्नाटक सरकार और स्थानीय भूमि-विक्रेताओं के साथ विवाद को सुलझाने के लिए दो कदम आगे बढ़कर फैसला किया और विवाद में शामिल पक्षों को रोजगार और कारोबार का मौक़ा देने की पेशकश की। यह समझौते की शुरूआती शर्तों के अलावा की गई पेशकश है। समझौते से जुड़ी घोषणाओं के बाद स्टॉक की कीमतों में मामूली गिरावट आई लेकिन इसके तुरंत बाद इसमें तेज़ी दर्ज़ हुई।

सो आखिरकार, एशियन पेंट्स का जो बोलबाला है वे जायज़ ही लगता है। हालांकि, निवेशकों को उन स्टॉक का पर्सनली गंभीरता से अध्ययन करना चाहिए जिन्हें वे खरीदना चाहते हैं। यदि एशियन पेंट्स के स्टॉक के ग्राफ पर निगाह डालें, तो आप देखेंगे कि स्टॉक की कीमत लगातार और धीरे-धीरे समय के साथ बढ़ी है - दूसरे शब्दों में, यह लंबी अवधि के निवेशकों के लिए बेहतर सौदा दीखता है।  जब सब चीज़ें अच्छी दिख रही हों तब भी इन्वेस्ट करने से पहले अपनी जोखिम झेल पाने की क्षमता पर विचार करें और हमेशा अपनी पूंजी को कुछ अलग-अलग एसेट क्लास (या इन्वेस्टमेंट टाइप) में बांटे, और उन एसेट क्लास के भीतर भी अपने सारे इन्वेस्टमेंट को एक ही जगह पर डालने से बचें।
शेयर बाजार के जोखिम को कम करने के लिए हमेशा अपने इन्वेस्टमेंट में विविधता लाएं। 

याद रखें कि इन्वेस्ट कोई भी कर सकता है - उम्र, जेंडर, जॉब प्रोफ़ाइल, सैलरी और जगह अब कुछ भी आपके निवेश के आड़े नहीं आता। आप एंजेल ब्रोकिंग के साथ अपने इन्वेस्टमेंट के रोमांचक सफ़र को शुरू कर सकते हैं और अपने ट्रेडिंग एवं डीमैट खाते को कुछ ही घंटों में कारगर बना सकते हैं। आपको एंजेल ब्रोकिंग की वेबसाइट और इसके सुविधाजनक (और मुफ्त) मोबाइल सेवा से उपयोगी जानकारी मिल सकती है। जब बात एशियन पेंट्स की होती है तो आपको न केवल स्टॉक मूल्य का ग्राफ (पांच साल तक का ऐतिहासिक आंकड़ा) बल्कि पी एंड एल, बैलेंस शीट, शेयरहोल्डिंग पैटर्न और तिमाही रिपोर्ट भी मिल सकती है। आप रिटर्न कैलकुलेटर का भी फायदा उठा सकते हैं।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

संबंधित ब्लॉग

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

नवीनतम ब्लॉग

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

angleone_itrade_img angleone_itrade_img

#स्मार्टसौदा न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Open an account