फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग: बेगिनर्स गाइड

16 सितम्बर,2021

6

643

icon
फ़ॉरेक्स शब्द का उपयोग फॉरेन एक्सचेंज (विदेशी मुद्रा) के लिए इस्तेमाल किया जाता है, जिसका मतलब है कि ऐसा ज़रियाजिससे एक करेंसी को दूसरी करेंसी में बदला जाता है।

परिचय

लोग ऐसा एक्सचेंज कई कारणों से करते हैं जिनमें कॉमर्स, टूरिज्म और ट्रेड शामिल हैं, लेकिन यह यहीं तक सीमित नहीं है। फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में क्या शामिल है यह समझने के लिए आगे पढ़ें। 

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग 101

करेंसी की ट्रेडिंग काम जोखिम भरा होता है। इंटरबैंक मार्केट ने कई किस्म के नियम लाये हैं, लेकिन सभी फ़ॉरेक्स इंस्ट्रूमेंट स्टैंडर्डाज्ड नहीं हैं। इसका मतलब है कि दुनिया के कुछ हिस्सों में फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग पर कोई रेगुलेशन नहीं है।

इंटरबैंक मार्केट में कई बैंक शामिल हैं जो दुनिया भर में एक दूसरे के साथ ट्रेड करते हैं। हर बैंक पर क्रेडिट जोखिम के साथ-साथ सॉवरेन जोखिम भी निर्धारित करने और स्वीकार करने की जिम्मेदारी है और उन्हें हरसंभव सुरक्षित रखने के लिए इंटरनल प्रोसेसे स्थापित करना होता है।

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग शुरू करने के स्टेप्स 

इक्विटी ट्रेडिंग की तरह, आप नीचे दिए गए स्टेप्स के ज़रिये अपना फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग सफ़र शुरू कर सकते हैं। 

फ़ॉरेक्स के बारे में जानें - हालांकि फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग जटिल नहीं है, लेकिन पूरी तरह से अलग किस्म की चीज़ है और आपको इससे जुड़ी पर्याप्त जानकारी चाहिए होती है।उदाहरण के लिए, फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग का लिवरेज रेशियो इक्विटी से अधिक होता है। दूसरा उदाहरण है कि करेंसी की प्राइस मूवमेंट से जुड़े फैक्टर्स इक्विटी मार्केट से अलग होते हैं। फ़ॉरेक्स के बारे में जानकारी देने के लिए ऑनलाइन पर्याप्त रिसोर्सेज़ उपलब्ध हैं।

ब्रोकरेज अकाउंट खुलवाएं - फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए आपको ब्रोकरेज में फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना होगा। फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में ब्रोकर कमीशन नहीं लेते हैं। वे बाय और सेल की प्राइस के बीच के स्प्रेड (जिसे पिप्स भी कहते हैं) के ज़रिये पैसे कमाते हैं। बेगिनर के रूप में आपको माइक्रो फॉरेक्स ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के बारे में सोचना चाहिए जिसमें कम कैपिटल की ज़रुरत होती है। इन अकाउंट में वेरिएबल ट्रेडिंग लिमिट होती है और ब्रोकर्स को किसी करेंसी की 1,000 इकाई तक भी ट्रेड करने की अनुमति होती है। यह काफी कम है क्योंकि स्टैंडर्ड अकाउंट आमतौर पर करेंसी की 1,00, 000 इकाई का ट्रेड करते हैं। माइक्रो- फ़ॉरेक्स अकाउंट के साथ, आप बड़ी छलांग लगाने से पहले फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग की समझ और इसमें महारत हासिल कर सकते हैं।

ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी बनाना - बाजार की टाइमिंग और मूवमेंट की भविष्यवाणी करना हमेशा संभव नहीं होता है, इसलिए ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी तैयार रहना ज़रूरी है। इस स्ट्रेटेजी को कारगर बनाने के लिए, अपने फंड और अपनी मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखना चाहिए। इसमें उस फंड की जानकारी शामिल होनी चाहिए जिसे आप ट्रेड कर सकते हैं और यह भी कि आप कितना जोखिम उठा सकते हैं।

अपने आंकड़ों की जानकारी रखें - फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग सफ़र शुरू करने पर हर दिन अपने खाते से जुड़ी जानकारी रखें। कई ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर में पहले से अपने ट्रेडों पर रोज़ नजर रखने की सुविधा होती है। आपके पास फ्यूचर ट्रेड के लिए पर्याप्त फंड होना चाहिए।

भावनात्मक संतुलन ज़रूरी है - बेगिनर के रूप में, भावुक हो जाना बहुत आसान है, लेकिन जिसकी आपको समझ न हो उससे बचें क्योंकि इससे भ्रम हो सकता है और इसकी वजह से आप ट्रेडिंग के समबन्ध में मूर्खतापूर्ण फैसला कर सकते हैं। आपको मुनाफा और नुकसान दोनों ही स्थिति में भावनात्मक संतुलन बनाए रखना सीखना चाहिए।

निष्कर्ष

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग और फ़ॉरेक्स मार्केट की दुनिया रोमांचक है और जो जोखिम लेना चाहते हैं उन्हें ज़ोरदार मुनाफा होता है। यदि आप फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में नए हैं तो हमेशा बारीकियां समझने की कोशिश करें और अपने ब्रोकर के साथ माइक्रो-फॉरेक्स ट्रेडिंग अकाउंट से शुरुआत करें। हमेशा एक कारगर स्ट्रेटेजी तैयार रखें ताकि आप आपके पास जितना है उससे अधिक खर्च न करें और उतना ही केवल जोखिम उठाएं जितना आपका पोर्टफोलियो बर्दाश्त कर सके।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न 

प्रश्न1. फ़ॉरेक्स किसे कहते हैं?
उत्तर1. फ़ॉरेक्स का मतलब है फॉरेन एक्सचेंज। इसका उपयोग एक करेंसी को दूसरी करेंसी में बदलने के लिए किया जाता है।

प्रश्न 2. फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग कहां से सीखी जा सकती है?
उत्तर2. इंटरनेट के प्रसार ने आज लगभग किसी के लिए कुछ भी सीखना आसान बना दिया है और फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग के बारे में सीखना भी इससे अलग नहीं है। आज इंटरनेट पर विभिन्न किस्म के रिसोर्सेज़ हैं जो फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग के बारे में जानकारी देते हैं।

प्रश्न3. हर दिन अपने ट्रेड के आंकड़े पर नज़र डालना क्यों ज़रूरी है?
उत्तर3. हर दिन अपने ट्रेड के आंकड़े पर नज़र डालने से आपको पता रहता है कि कहीं कोई पेंडिंग पोजीशन तो नहीं है जिसे भरने की ज़रुरत है। इसके अलावा, आप यह तय कर सकते हैं कि आपके पास और ट्रेड करने के लिए और कितना फंड चाहिए।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

संबंधित ब्लॉग

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

नवीनतम ब्लॉग

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

angleone_itrade_img angleone_itrade_img

#स्मार्टसौदा न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Open an account