2021 में आ रहे हेल्थकेयर इंडस्ट्री के आईपीओ

4.0

03 जुलाई,2021

8

968

icon
सबकी निगाह हेल्थकेयर सेक्टर पर टिकी है। न सिर्फ कोविड -19 से दुनिया को बचाने के लिए, बल्कि इन्वेस्टमेंट के एक ज़रिये के तौर पर भी इस पर निगाह है।

इसके अलावा हेल्थकेयर, विशेष रूप से फार्मास्यूटिकल्स, को पारंपरिक रूप से इन्वेस्टरों के लिए इन्वेस्टमेंट पर अच्छा मुनाफा देने वाला सेक्टर माना जाता है। तर्क यह है कि जनसंख्या बढ़ती रहेगी, लोग बीमार पड़ते रहेंगे; अधिक जनसंख्या का मतलब है बीमार लोगों की अधिक संख्या, और इसका मतलब होगा दवा और अस्पतालों और इससे जुड़ी सर्विसेज की मांग, जो दवा कंपनियों और कुल मिलाकर हेल्थकेयर सेक्टर के विकास के अनुरूप है। कोविड से पहले के दौर में इन्वेस्टर की यही सोच थी। अब, निश्चित रूप से, फार्मास्यूटिकल कंपनियों, विशेष रूप से वैक्सीन रिलीज के लिए दौड़ में, निवेश के परिपक्व विकल्पों के रूप में देखा जा रहा है। इसके अलावा, बीमारों को छोड़कर हर कोई लॉकडाउन में है, इसे देखते हुए कई इन्वेस्टरों के लिए यह स्पष्ट है हेल्थकेयर में बहुत पैसा है। कई इन्वेस्टर्स के लिए मौजूदा आर्थिक संकट के दौरान हेल्थकेयर सेक्टर का लचीलापन मुख्य आकर्षण का विषय है। 

क्या हेल्थकेयर में आपकी दिलचस्पी पहले से हो या कोविड-19 के कारण पैदा हुई फिनांशियल मौके से पैदा हुई हो; या फिर पिछले 12 महीनों में अपने पोर्टफोलियो के प्रदर्शन को देखते हुए सेक्टर के लचीलेपन को देखते हुए इसमें रूचि हुई हो, तो आने वाले महीनों में हेल्थकेयर स्टॉक प्रेमियों के लिए उत्साहित होने के लिए बहुत कुछ है। हमने हेल्थकेयर सेक्टर के अपकमिंग नौ आईपीओ आपके सामने पेश किये हैं जिन पर आप नज़र रख सकते हैं। निम्नलिखित कंपनियां अपने आईपीओ पेश करने के विभिन्न चरणों में हैं: 

1. ग्लेनमार्क  लाइफसाइंसेज

2021 के अपकमिंग हेल्थकेयर आईपीओ की सूची में सबसे जाने-माने नाम ग्लेनमार्क लाइफसाइंसेज ने 1,160 करोड़ रूपये के ताज़ा इश्यू और 73.1 लाख शेयर तक का ऑफर फॉर सेल के लिए आवेदन किया है। ग्लेनमार्क लगभग 65 देशों में कुल 130 एक्टिव फार्मास्यूटिकल इन्ग्रेडिएंट की मैन्युफैक्चरिंग और आपूर्ति करता है। मैन्युफैक्चरिंग के अलावा, यह प्रमुख फार्मा कंपनी कॉन्ट्रैक्ट डेवलपमेंट के क्षेत्र में काम करती है।  

2. सुप्रिया लाइफसाइंसेज

हेल्थकेयर सेक्टर की इस कंपनी ने अपना ड्राफ्ट हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल कर दिया है और ओएफएस के तहत 200 करोड़ रुपये के नए शेयर और 1000 करोड़ रुपये के शेयर के आईपीओ की मंज़ूरी मांग रही है। सुप्रिया लाइफसाइंसेज अलग-अलग खंड जैसे एंटीहिस्टामाइन, एंटी-अस्थमा, एनाल्जेसिक, एनेस्थेटिक, एंटी-एलर्जी और विटामिन के लिए कुल 39 एक्टिव फार्मास्युटिकल इन्ग्रेडिएंट का निर्माण और आपूर्ति करती है। 

आईपीओ से जुटाई गई पूंजी का उपयोग क़र्ज़ चुकाने, अलग-अलग किस्म के कॉर्पोरेट खर्चों और कंपनी की पूंजी की ज़रूरत पूरी करने किया जाएगा।

3. विंडलास बायोटेक

इस प्रस्तावित हेल्थकेयर आईपीओ में 165 करोड़ रूपये का फ्रेश शेयर इश्यू और 51 लाख से थोड़े अधिक का ऑफर फॉर सेल शामिल है। 50 करोड़ रुपये के प्री-आईपीओ प्लेसमेंट पर भी विचार किया जा रहा है। विंडलास बायोटेक ने मई के मध्य में सेबी को अपना ड्राफ्ट हेरिंग प्रॉस्पेक्टस सौंपा। कंपनी के कारोबारी क्षेत्र में फार्मास्युटिकल फॉर्मूलेशन के लिए मैन्युफैक्चरिंग और कॉन्ट्रैक्ट डेवलपमेंट दोनों शामिल हैं।  

4. एमक्योर फार्मास्यूटिकल्स

इन्वेस्टर एमक्योर फार्मास्युटिकल्स द्वारा 3,000 करोड़ रुपये से 4,000 करोड़ रुपये के आईपीओ की उम्मीद कर सकते हैं, जिसमें इस सूची में शामिल कई अन्य कंपनियों की तरह ही नए इश्यू और ओएफएस शामिल होंगे। हालाँकि हेल्थकेयर आईपीओ की सूची में शमिल अन्य कंपनियों से अलग एमक्योर फार्मास्युटिकल्स जेनेरिक दवाएं बनाती है। 

कंपनी ने हाल ही में अपनी अमेरिकी इकाई से नाता तोड़ लिया है। अब तक इस बारे में कोई खबर नहीं है कि किस तरह की इन्वेस्टर पूंजी इसमें आएगी लेकिन अखबारों के मुताबिक कंपनी स्टॉक मार्केट में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी पेश करना चाह रही है। एमक्योर फार्मास्युटिकल्स पर नजर रखने का एक कारण संभवतः यह भी है कि इसमें बेन कैपिटल की 13 प्रतिशत हिस्सेदारी है। 

5. वीडा क्लिनिकल रिसर्च

एक तिमाही में दूसरी बार सुर्खियों में, वीडा क्लिनिकल रिसर्च लगभग 500 करोड़ रुपये या शायद 700 करोड़ रूपये के आईपीओ की तैयारी कर रही है। बमुश्किल दो महीने पहले वीडा क्लिनिकल रिसर्च प्री-क्लिनिकल रिसर्च फर्म बायोनीड्स में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए चर्चा में थी। 

लगभग पूरी संभावना है कि आईपीओ प्राइवेट इक्विटी फर्म के ओएफएस के रूप में होगा और यह सीएक्स कैपिटल के ज़रिये होगा। 

6. स्टार हेल्थ

एचटी मिंट सहित कई बड़े अखबारों ने बताया है कि स्टार हेल्थ का 2000 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने का इरादा है। हमें इससे जुड़े डेवलपमेंट और असली ब्योरे का इंतजार करना होगा और देखना होगा क्योंकि अब तक यह पूरी तरह से अफवाह है - उम्मीद है कि कंपनी मई के अंत में अपना ड्राफ्ट हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल करेगी। ऐसी कंपनी के बारे में इतनी खबरें क्यों हैं जिसका लिस्ट होना बाकी है और उसने अब तक ड्राफ्ट हेरिंग प्रॉस्पेक्टस भी दाखिल नहीं किया है? वैसे कंपनी का आंशिक स्वामित्व बुलिश इन्वेस्टर राकेश झुनझुनवाला (अन्य व्यक्तिगत इन्वेस्टर्स के कंसोर्टियम के सदस्यों में से एक) के पास है।  

7. मेडी असिस्ट हेल्थकेयर सर्विसेज

इसका ऑफर पूरी तरह से ओएफएस ही जो कंपनी के 2.80 करोड़ शेयरों के लिए है। मेडी असिस्ट हेल्थकेयर सर्विसेज स्वास्थ्य और बीमा के टेक्नोलॉजी क्षेत्र में काम करती हैं - इसके ग्राहकों में एम्पलॉयर और हेल्थकेयर स्कीम शामिल हैं।

8. कृष्णा डायग्नोस्टिक्स

प्रस्तावित ऑफर में 400 करोड़ रुपये का नया इश्यू और 94 लाख से थोड़े अधिक शेयरों का ओएफएस शामिल किया जाना है। जैसा कि नाम से ही साफ़ है कि कंपनी की डायग्नोस्टिक सेंटर की श्रृंखला है - इसके 13 राज्यों में 1800 से अधिक डायग्नोस्टिक सेंटर हैं। 

आईपीओ से आई इन्वेस्टर पूंजी का उपयोग अपने डायग्नोस्टिक सेंटर के विस्तार, क़र्ज़ चुकाने और अलग-अलग किस्म के कॉर्पोरेट खर्चों के लिए किया जाएगा।  

9. कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज

आईपीओ में 200 करोड़ रूपये के फ्रेश स्टॉक इश्यू और ऑफर फॉर सेल के 2.13 करोड़ से अधिक शेयर शामिल होंगे। इस हेल्थकेयर कंपनी - जिसे संक्षेप में किम्स किया जाता है - ने अपना ड्राफ्ट हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल कर दिया है। किम्स के नौ मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल हैं जिनमें 2,500 से अधिक ऑपरेशनल बेड हैं। इसकी स्कीपेशलिटी सूची काफी लंबी है, जिनमें कार्डियक साइंसेज, गैस्ट्रिक साइंसेज, मदर एंड इन्फेंट केयर, न्यूरो साइंस, ऑन्कोलॉजी, ओर्थोपेडिक्स, ऑर्गन ट्रांसप्लांट और रीनल साइंसेज शामिल हैं।  

यदि आप आगामी हेल्थकेयर आईपीओ में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आप एंजेल ब्रोकिंग ऐप के ज़रिये आसानी से कर सकते हैं। जब तक आपके पास इंटरनेट कनेक्शन है, आप चलते-फिरते - कभी भी, कहीं भी - अपने स्टॉक मार्केट इन्वेस्टमेंट पर नज़र रख सकते हैं। एंजेल ब्रोकिंग ऐप मुफ़्त है और आप कुछ मामूली डॉक्यूमेंट के साथ अपना ट्रेडिंग अकाउंट बगैर किसी देरी के मिनटों के चला सकते हैं। 

हमेशा याद रखें, हर कोई इन्वेस्ट कर सकता है चाहे उसकी उम्र, जेंडर या प्रोफेशन कुछ भी हो। हालाँकि आपको थोड़ा रिसर्च करना चाहिए और यह तय करना चाहिए कि आपको पता जो कि आप किस चीज़ में इन्वेस्ट कर रहे हैं - जैसा कि आप अभी कर रहे हैं, इस ब्लॉग को पढ़कर। अच्छा काम करते रहें: लगन से रिसर्च करें, सुरक्षित इन्वेस्टमेंट की आदत डालें और निश्चित रूप से, अपनी निवेश यात्रा जल्द से जल्द शुरू करें।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

संबंधित ब्लॉग

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

नवीनतम ब्लॉग

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

angleone_itrade_img angleone_itrade_img

#स्मार्टसौदा न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Open an account