स्टॉक मार्केट में सीएमपी क्या है?

21 जुलाई,2021

8

1333

icon
पहले शेयर मार्केट फिजिकल स्पेस होता था जहां ट्रेडर ऑफिस बनाते थे और उनका डेस्क होता था, और स्टॉक, शेयर और बांड का ट्रेड कागज़ वाले शेयर सर्टिफिकेट पर होता था।

परिचय

यह मॉडल उस समय ट्रेडर और इन्वेस्टर के लिए कारगर था लेकिन इसमें कई खामियां थीं; शेयर, सर्टिफिकेट के जाली होने, खो जाने, इधर-उधर हो जाने के अलावा शेयर मार्केट की कीमतों में लगातार बदलाव के आंकड़े को कागज़ पर दर्ज़ करते रहना अपने आप में मुश्किल काम था। लेकिन अब यदि शेयर मार्केट में ट्रेड करना हो तो बस एक ऐप डाउनलोड करें और एक फॉर्म भरें और ट्रेड शुरू कर दें। डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया के पूरी तरह से डिजिटल और निर्बाध होने के कारण अब लगभग हर व्यक्ति के लिए शेयर मार्केट में ट्रेड करना आसान हो गया है।

हालाँकि, शेयर बाज़ार में आसानी से ट्रेड करने की सुविधा एक सख्त लर्निंग कर्व के साथ आई है। जो टेक्नोलॉजी और टेक्निकल टर्मिनोलॉजी से अच्छी तरह वाकिफ नहीं हैं, उन्हें इन स्टॉक ट्रेडिंग ऐप्स के ज़रिये ट्रेड करना मुश्किल लग सकता है। आपके फ़ोन की स्क्रीन भर पर ग्राफ़, प्राइस और ट्रेडिंग क्वांटिटी जैसी कई जानकारी दिख जाती है, कई टर्म को छोटा कर दिया गया है। इसलिए पहली-पहली बार कई लोगों को यह इंटरफ़ेस चुनौती भरा लग सकता है, लेकिन यह कुछ ही मिनट में आसान हो जाता है।

इस आर्टिकल में ऐसे ही एक संक्षिप्त टर्म पर नज़र डालते हैं: सीएमपी। स्टॉक मार्केट में सीएमपी क्या है और शेयर मार्केट में सीएमपी का क्या मतलब है, यह समझने के लिए आगे पढ़ते हैं।

सीएमपी

स्टॉक की कीमत लगभग हमेशा बदल रही होती है, हर सेकेंड। यहां तक कि जब मार्केट बंद रहते हैं, तो जनता की सोच और अन्य घटनाक्रम स्टॉक की कीमत पर असर डाल रहे होते हैं, जिसका पता स्टॉक के उछाल या गिरावट के साथ खुलने से चलता है। सीएमपी का मतलब है करेंट मार्केट प्राइस (मौजूदा बाज़ार मूल्य) । यदि किसी को इसकी कल्पना करनी हो तो स्टॉक की इस हलचल को ग्राफ पर दर्शाया जा सकता है। सीएमपी इस ग्राफ का सबसे हाल में शामिल अंग है, जिसमें यह दिखाया जा सकता है कि इस समय स्टॉक की कीमत क्या है। इसलिए, स्टॉक मार्केट में सीएमपी का मतलब है किसी स्टॉक की मौजूदा कीमत। सीएमपी शेयर मार्केट में कैसे काम करता है और इसका क्या मतलब है, आइये यह जानने की कोशिश करते हैं।

सीएमपी का महत्व

शेयर मार्केट में किसी स्टॉक का सीएमपी इन्वेस्टर या ट्रेडर के तौर पर आपके लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह आपको बता सकता है कि उस क्षण स्टॉक की कीमत क्या है। कुछ क्षण पहले स्टॉक की कीमत जानने के साथ-साथ, फंडामेंटल और टेक्निकल एनालिसिस के साथ, सीएमपी का उपयोग यह अंदाज़ा लगाने के लिए भी किया जा सकता है कि भविष्य में 10 मिनट, 10 दिन या 10 सप्ताह बाद किसी स्टॉक का सीएमपी क्या होगा। इसे इस तरह देखने से लगेगा कि सीएमपी का मतलब है बस किसी ख़ास समय स्टॉक की कीमत क्या है। जैसे एक पल ख़त्म होने के बाद दूसरा पल आता है वैसे ही एक के बाद दूसरा सीएमपी भी आता है। कोई पूछ सकता है कि मौजूदा सीएमपी से ठीक पहले का सीएमपी क्या होता है? इसे समझने के लिए, हमें स्टॉक मार्केट स्टडी, एलटीपी में सीएमपी को जोड़ने की ज़रुरत होगी।

एलटीपी

किसी स्टॉक का एलटीपी या लास्ट ट्रेडेड प्राइस उस कीमत को दिखाता है जिस पर स्टॉक को हाल ही में खरीदा और बेचा गया हो। शेयर मार्केट में सीएमपी अर्थ की तरह, एलटीपी भी हमेशा बदल रहा होता है हर ट्रेड के साथ। जैसे यदि आप क्षण भर के लिए कोई शेयर खरीदते हैं, तो जिस कीमत पर आपने स्टॉक खरीदा वह स्टॉक का एलटीपी था। हालांकि, भारी मात्रा में ट्रेडिंग होने के कारण, स्टॉक का एलटीपी हर क्षण बदलता जाता है।

अब, यदि सीएमपी ट्रेड कर रहे स्टॉक का मौजूदा मूल्य है तो एलटीपी का मतलब वह अंतिम मूल्य जिस पर स्टॉक का कारोबार होता है, तो क्या दोनों एक तरह से एक ही चीज़ नहीं हैं? जवाब हैं नहीं पूरी तरह से नहीं। आइए यह समझने के लिए गहराई से देखें कि ऐसा क्यों है।

सीएमपी और एलटीपी के बीच अंतर

कोई भी यह पूछ सकता है कि स्टॉक मार्केट में सीएमपी और एलटीपी के बीच क्या फर्क है। हालाँकि, एक-दूसरे के करीब होने के बावजूद दोनों में एक बड़ा फर्क है।

मान लें कि आप कोई स्टॉक खरीदने की सोच रहे हैं। आप स्टॉकब्रोकिंग साईट पर जाते हैं यह देखने के लिए कि स्टॉक किस स्तर पर ट्रेड कर रहा है। यदि स्टॉक100 रूपये पर है, और आपको स्क्रीन पर 99.8 रुपये दिख रहा है तो वह आपकी कीमत है जिस पर आप स्टॉक खरीद सकते हैं और तब कह शेयर मार्केट में आपका सीएमपी होगा। यदि आप सेलर हैं तो जिस कीमत पर खरीदने की पेशकश कर रहे हैं वह सीएमपी है। आप में से किसी ने भी अभी तक ट्रेड नहीं किया है तो शेयर मार्केट में कीमत सीएमपी है। यदि तब आप उस स्टॉक में इन्वेस्ट करना तय करते हैं तो जिस कीमत पर आपने इसे खरीदा है वह एलटीपी या लास्ट ट्रेडेड प्राइस होगा। इसलिए कोई यह दावा कर सकता है कि स्टॉक का वास्तविक सीएमपी अलग-अलग इन्वेस्टर के लिए बारीकी से अलग-अलग हो सकता है, और आम तौर पर शेयर मार्केट में सीएमपी इन अलग-अलग सीएमपी का औसत होता है जो हर क्षण बदलता होता है।

निष्कर्ष

स्टॉक ट्रेडिंग ऐप पर जब अलग-अलग शब्दों के साथ सीएमपी पर निगाह पड़ती है तो पहली नज़र में कंफ्यूज़ करने वाला शब्द लग सकता है। हालाँकि, शेयर मार्केट में सीएमपी का मतलब स्टॉक की मौजूदा कीमत के अलावा कुछ नहीं है। यदि आप स्टॉक ट्रेडिंग और डिजिटल स्टॉक ट्रेडिंग ऐप के मामले में नए हैं, तो एंजेल ब्रोकिंग स्टॉक ट्रेडिंग ऐप एक सहज डीमैट ओपनिंग प्रक्रिया के साथ डाउनलोड करने के लिए स्वतंत्र हैं। यह आपको मिनटों में स्टॉक ट्रेडिंग यात्रा शुरू करने के लिए तैयार कर देगा। एक सरल इंटरफ़ेस के साथ, नौसिखियों के लिए ऐप का उपयोग करना आसान है, साथ ही उन अनुभवी ट्रेडर के लिए भी कई तरह के फीचर हैं जो बाज़ार की पेचीदगियों में हाथ आजमाना चाहते हैं। एंजेल ब्रोकिंग ऐप आपको निवेश शुरू करने के लिए ज़रूरी सारे टूल प्रदान करता है। हालांकि, ज़रूरी है कि मार्केट के गुर सीखें और अच्छे मूल्य पर शेयर चुनने के लिए खुद अपनी रिसर्च करें। ऐसा कर लेने पर ऐप आपको उस स्टॉक को आसानी से खरीदने और होल्ड करने में मदद करेगा। अपने इन्वेस्टमेंट का सफ़र शुरू करने के लिए आज ही डाउनलोड करें एंजेल ब्रोकिंग ऐप।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

संबंधित ब्लॉग

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

नवीनतम ब्लॉग

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

angleone_itrade_img angleone_itrade_img

#स्मार्टसौदा न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Open an account