ट्रेडर्स के लिए मॉड्यूल

ट्रेडिंग रणनीतियाँ 1

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

विकल्प रणनीतियाँ और विकल्प का उपयोग

3.0

icon icon

एक अस्थिर बाजार के लिए ऑप्शन रणनीति वह है जो ट्रेडर्स को मार्केट की किसी भी दिशा में निवेश करने और उनसे मुनाफा कमाने में सक्षम बनाती है, तब भी जब कीमतों मे अचानक बदलाव आ रहा हो, चाहे कीमतें बढ़ें, गिरें या उनमें कोई बदलाव ना हो। यहां असली चुनौती यह है कि सबसे बेहतर ऑप्शन रणनीति निर्णय लेने के लिए यह समझ पाना कि कीमतों में कितना उछाल आएगा। यहाँ पर अस्थिर बाजार के लिए सबसे अच्छे ऑप्शन रणनीतियों में से कुछ के बारे में बताया गया है। यह जरूरी और अभी तक की सबसे सरल स्ट्रेटर्जी में से कुछ हैं जिनसे शेयर निवेश के  शुरुआती खिलाड़ियों को भी फायदा हो सकता है।  

1 – लॉन्ग स्ट्रैंगल

एक  लॉन्ग स्ट्रैंगल में, आप एक ही एक्सपायरी का आउट-ऑफ-द-मनी कॉल और आउट-ऑफ-द-मनी पुट ऑप्शन खरीदते हैं। ओटीएम कॉल ऑप्शन एक ऐसा कॉल ऑप्शन है (स्ट्राइक प्राइस नामक प्रीसेट मूल्य पर अंतर्निहित एसेट खरीदने का आधिकार, ना कि दायित्व) जहां स्ट्राइक मूल्य अंतर्निहित एसेट की मौजूदा कीमत से अधिक होता है। ओटीएम पुट ऑप्शन एक ऐसा ऑप्शन है जहां स्ट्राइक मूल्य अंतर्निहित एसेट की वर्तमान कीमत से कम होता है। यहां अगर व्यापारी चाहे, तो स्ट्राइक प्राइस में बदलाव किया जा सकता है, लेकिन तब मौजूदा कीमत को कॉल और स्ट्राइक प्राइस दोनों के बीच अंतर समान होना चाहिए।

लॉन्ग स्ट्रैंगल की रणनीति, इस सीधी-सी वजह के कारण सस्ती है कि पुट और कॉल ऑप्शन, दोनों आउट-ऑफ-द-मनी हैं और कोई आंतरिक मूल्य नहीं है। अगर यह रणनीति काम करती है और अंतर्निहित स्टॉक की कीमतें काफी बढ़ जाती हैं, तो यह आपको अच्छा रिटर्न दे सकता है क्योंकि आपका प्रीमियम सस्ता है। यहां, दांव वास्तव में कीमतों में निहित अस्थिरता की डिग्री पर है। यहां, आप प्रीमियम कमाने से लाभ नहीं उठाते हैं, जैसा आप शॉर्ट स्ट्रैडल जैसी दूसरी रणनीतियों में करते हैं।

लॉन्ग स्ट्रैंगल का उपयोग करने का अच्छा समय कब है?

आप मार्केट से किसी भी दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाने की उम्मीद आमतौर पर एक महत्वपूर्ण घटना के बाद करते हैं। यह अन्य ट्रिगर्स के अलावा, एक महत्वपूर्ण समाचार घटना, डाटा डिसक्लोजर, मौद्रिक नीति घोषणाएं, अर्निंग्स रिलीज, वार्षिक बजट घोषणाएं, वैश्विक कारक, मुद्रा में उतार-चढ़ाव हो सकता है। यह एक लॉन्ग स्ट्रैंगल में प्रवेश करने का शानदार समय होता है।

आइए एक उदाहरण देखें:

मान लेते हैं, बीएसई सेंसेक्स का स्ट्राइक मूल्य ₹15,000 है।

आपने ₹16,000 के स्ट्राइक मूल्य पर ओटीएम  कॉल ऑप्शन खरीदा।

आपने ₹14000 के स्ट्राइक मूल्य पर ओटिएम पुट ऑप्शन खरीदा।

आपने ओटीएम काल ऑप्शन के लिए ₹50 के प्रीमियम का भुगतान किया।

आपने ओटीएम पुट ऑप्शन के लिए ₹40 के प्रीमियम का भुगतान किया।

यहाँ नेट प्रीमियम ₹90 है।

ऊपरी ब्रेकइवन पॉइंट होगा (ओटिएम कॉल स्ट्राइक प्राइस + कुल प्रीमियम का भुगतान) : ₹16090 

निचला ब्रेकइवन पॉइंट होगा (ओटिएम पुट स्ट्राइक प्राइस - कुल प्रीमियम का भुगतान): ₹13910।

अगर यहाँ कीमतें ₹13,910- ₹16090 की रेंज से ऊपर, किसी भी दिशा में आगे बढ़ती हैं तो ट्रेडर को मुनाफा होगा। 

इसके कुछ फायदे हैं :

  1. यहां न्यूनतम नुकसान बहुत कम होता है। अगर कीमतें बिल्कुल नहीं बदलती हैं या केवल दो स्ट्राइक कीमतों के बीच ही बदलती हैं, तो नुकसान उतना ही होता है जितना कुल प्रीमियम का भुगतान किया जाता है।
  2. पर वहीं दूसरी तरफ, यहाँ लाभ असीमित है क्योंकि कीमतें किसी भी दिशा में आगे बढ़ सकती हैं और यह लाभ तब तक कमाया जा सकता है जब तक वह दोनों तरफ ब्रेक इवेंन पॉइंट्स से आगे नहीं बढ़ जाते हैं।
  3. एक समय में, केवल एक ऑप्शन लाभ कमाएगा। इसलिए प्रीमियम और अन्य ऑप्शन की लागत को कवर करने के लिए काफी लाभ होना चाहिए।
  4. आपको कीमतों में तेज हलचल की उम्मीद होने लेकिन कीमतों की बढ़ने की दिशा के बारे में अनिश्चित होने पर ही लॉन्ग स्ट्रगल में प्रवेश करना चाहिए। 

2 - लॉन्ग स्ट्रैडल

अगर आप केवल स्टॉक निवेश के व्यवसाय में उतर रहे हैं और अपने जोखिमों को कम करना चाहते हैं, तो एक लॉन्ग स्ट्रेडल एक अच्छी स्ट्रेटर्जी है क्योंकि यह सरल तो है ही, इसके साथ ही यह सीमित जोखिम और असीमित लाभ क्षमता के साथ भी आती है।

लॉन्ग स्ट्रेडल अस्थिर बाजारों के लिए तब आदर्श होती है जब आप कीमतों में महत्वपूर्ण हलचल की उम्मीद करते हैं लेकिन आप इस बात से कम आश्वस्त होते हैं कि कीमतें किस तरफ बढ़ेंगी। यह काफी सीधा और सरल है क्योंकि इसमें एक लॉन्ग कॉल ऑप्शन और एक लॉन्ग पुट ऑप्शन को खरीदना शामिल होता है। यहां, आप एक ही एक्सपायरी वाले एट-द-मनी (एटीएम) कॉल और एटीएम पुट ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट पर समान लॉट लेते हैं। एट-द-मनी कॉन्ट्रैक्ट वह होते हैं जहां स्ट्राइक प्राइस अंतर्निहित सिक्योरिटी के मौजूदा मूल्य के बराबर होता है। प्राइस मूवमेंट से लाभ उठाने के लिए आप अधिक लंबी एक्सपायरी चुन सकते हैं, या आप एक्सपायरी के करीब वाला एक सस्ता कॉन्ट्रैक्ट चुन सकते हैं।

चूंकि आपको लॉन्ग स्ट्रैडल खरीदने के लिए प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है, इसलिए यह एक नेट डेबिट लेनदेन है।

आइए हम एक काल्पनिक उदाहरण देखें।

कंपनी एबीसी का शेयर ₹60 पर कारोबार कर रहा है।

उसी स्टॉक के लिए, एटीएम कॉल (₹60 के स्ट्राइक प्राइस के समान ही) ₹3 पर ट्रेड कर रहे हैं। आप ₹300 में 100 एटीएम काल ऑप्शन का एक लॉट खरीदते हैं।

इसके साथ ही, आप एटीएम पुट (स्ट्राइक प्राइस ₹60) खरीदते हैं जो ₹4 पर ट्रेड कर रहा है। आप ₹400 में 100 एटीएम पुट ऑप्शन का एक लॉट खरीदते है।

इस लॉन्ग स्ट्रैडल के लिए आप दोनों प्रीमियमों के लिए ₹700 का नेट डेबिट भुगतान करेंगे।

अगर कॉन्ट्रैक्ट की एक्सपायरी की तारीख तक कीमतें बिल्कुल नहीं बदलती हैं, तो यही आपकी अधिकतम हानि भी होगी, जिसमें कमीशन शुल्क और अन्य खर्च भी शामिल हैं (जो कि हमने आपको आसानी से समझाने के लिए यहां शामिल नहीं किया है)।

 

लाभ / हानि की क्षमता

अगर कीमतें किसी भी दिशा में अहम मोड़ लेती हैं तो यहाँ पर हमें असीमित लाभ हो सकता है। बस यहाँ एक बात ध्यान देने वाली है कि, प्राइस मूवमेंट, प्रीमियम की लागत को कवर करने के लिए पर्याप्त होना चाहिए (कॉल या पुट + प्रीमियम)। चलिए, हम उन लाभ और हानि परिदृश्यों को देखते हैं जहां आप लॉन्ग स्ट्रैडल को उपयोग करेंगे-

मान लीजिए कि एबीसी शेयर कॉन्ट्रैक्ट एक्स्पायरी पर ₹64 पर ट्रेड कर रहा है -

चूंकि वर्तमान मूल्य आपके कॉन्ट्रैक्ट के स्ट्राइक मूल्य से अधिक है, इसलिए आपके कॉल ऑप्शन ₹400 के होंगे।  आप अपने ₹700 के नेट डेबिट भुगतान से ₹400 को रिकवर करेंगे।

एबीसी स्टॉक कॉन्ट्रैक्ट एक्स्पायरी पर ₹69 पर ट्रेड कर रहा है –

मौजूदा कीमत स्ट्राइक प्राइस से अधिक है; आपके कॉल ऑप्शन की कीमत ₹900  होगी और आपके पुट ऑप्शंस का उपयोग नहीं होगा। आप अपना ₹700 का डेबिट भुगतान रिकवर करेंगे और ₹200 का लाभ कमाएँगे।

एबीसी स्टॉक कॉन्ट्रैक्ट एक्स्पायरी पर ₹53 पर ट्रेड कर रहा है –

वर्तमान मूल्य, ₹60 के स्ट्राइक प्राइस से कम है। जब आप उच्च स्ट्राइक मूल्य पर स्टॉक नहीं खरीदेंगे, तो आपके कॉल ऑप्शन निष्क्रिय हो जाएंगे। आपके पुट ऑप्शन की कीमत ₹700 होगी। भुगतान किए गए प्रीमियम के साथ, आप बिना किसी लाभ या नुकसान के साथ ब्रेक ईवन पर होंगे।

 अगर एबीसी स्टॉक कॉन्ट्रैक्ट एक्स्पायरी पर ₹51 पर ट्रेड कर रहा है –

अंतर्निहित स्टॉक की वर्तमान कीमत स्ट्राइक मूल्य से कम है। आपके कॉल ऑप्शन की कीमत ₹900 होगी, जबकि आपके पुट ऑप्शंस निष्क्रिय होंगे। आपको ₹200 का लाभ होगा।

ब्रेकईवन पॉइंट:

ब्रेकईवन पॉइंट 1 है जब स्ट्राइक प्राइस और प्रीमियम का भुगतान किया जाता है, जो (₹60+ ₹700): ₹760 

ब्रेकईवन पॉइंट 2 है जब स्ट्राइक प्राइस माइनस प्रीमियम भुगतान किया जाता है, जो ₹640 है।

जब लॉन्ग स्ट्रैडल के ब्रेकईवन पॉइंट्स से आगे कीमतें बढ़ती हैं तो आपको यहाँ पर मुनाफा मिलेगा, दूसरे शब्दों में, जब किसी भी दिशा में एक महत्वपूर्ण प्राइस मूवमेंट या उच्च निहित अस्थिरता होती है। यहां आपको कॉन्ट्रैक्ट एक्सपायरी से पहले अपनी पोजीशन को क्लोज करने की आजादी है, सिर्फ कॉल या पुट ऑप्शंस बेचकर। 

3 - स्ट्रिप स्ट्रैडल

जब निवेशक अंतर्निहित स्टॉक की कीमतों में अहम गिरावट की उम्मीद कर रहे होते हैं, तब निवेशक स्ट्रिप स्ट्रैडल में प्रवेश करते हैं। और इसी से पता चलता है कि क्यों एक निवेशक इस प्रकार की स्ट्रैडल रणनीति में कॉल ऑप्शंस की तुलना में ज्यादा पुट ऑप्शन खरीदता है, जो अन्य सभी व्यावहारिक उद्देश्यों के लिए, एक लॉन्ग स्ट्रैडल की तरह ही है। कीमतें गिरने के अनुमान से उलट, अगर कीमतों में बढ़ोतरी होती है तो उस नुकसान को कवर करने के लिए कॉल ऑप्शन को खरीदा जाता है।

एक स्ट्रिप स्ट्रेटर्जी में, आप ज्यादा पुट ऑप्शन और कम कॉल ऑप्शन खरीदते हैं लेकिन एक्सपायरी समान रहती है। 

5. बुल कॉल स्प्रेड

एक बुल कॉल स्प्रेड एक ऑप्शन ट्रेडिंग रणनीति है जिसे शेयर के मूल्य में सीमित वृद्धि से मुनाफा कमाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। रणनीति स्ट्राइक प्राइस और अपर स्ट्राइक प्राइस वाली रेंज बनाने के लिए दो कॉल ऑप्शन का उपयोग करती है। बुल कॉल स्प्रेड से शेयर के नुकसान को सीमित करने में मदद मिलती है, लेकिन यह लाभ भी हासिल करता है। कमोडिटी, बॉन्ड, स्टॉक, मुद्राएं और अन्य एसेट कॉल ऑप्शंस के लिए अंतर्निहित होल्डिंग्स हो सकती हैं।

6. बुल पुट स्प्रेड

एक बुल पुट स्प्रेड एक ऑप्शन स्ट्रेटर्जी है जो एक निवेशक तब उपयोग करता है जब वे अंतर्निहित एसेट की कीमत में मध्यम वृद्धि की उम्मीद करता है। यह स्ट्रेटर्जी एक रेंज बनाने के लिए दो पुट ऑप्शन को नियुक्त करती है, जिसमें एक उच्च स्ट्राइक मूल्य और एक कम स्ट्राइक मूल्य वाला होता है। निवेशक को ऑप्शन के दो प्रीमियम के बीच के अंतर से नेट क्रेडिट मिलता है।

निवेशक आमतौर पर स्टॉक की कीमत में गिरावट से लाभ के लिए ऑप्शन का उपयोग करते हैं, क्योंकि एक पुट ऑप्शन उन्हें यह क्षमता देता है - हालांकि कॉन्ट्रैक्ट की एक्सपायरी पर या उससे पहले स्टॉक बेचने की बाध्यता नहीं होती है। हर  पुट ऑप्शन में स्ट्राइक प्राइस होता है, जो वह मूल्य होता है जिस पर ऑप्शन अंतर्निहित स्टॉक में परिवर्तित होता है। पुट ऑप्शन खरीदने के लिए निवेशक प्रीमियम का भुगतान करते हैं।

7. मैरिड पुट

एक मैरिड पुट स्ट्रेटर्जी में, एक निवेशक एक एसेट खरीदता है - जैसे शेयर और इसके साथ-साथ उसी संख्या में शेयरों के पुट ऑप्शन खरीदता है। पुट ऑप्शन के धारक को स्ट्राइक मूल्य पर स्टॉक बेचने का अधिकार है, और हर कॉन्ट्रैक्ट 100 शेयरों के मूल्य के बराबर होता है।

एक निवेशक स्टॉक होल्ड करने के दौरान अपने नकारात्मक जोखिम को कम करने के तरीके के रूप में इस रणनीति का उपयोग कर सकता है। यह रणनीति एक बीमा पॉलिसी के समान है; यह शेयर की कीमत तेजी से गिरने की स्थिति में एक प्राइस फ्लोर स्थापित करता है।

निष्कर्ष

यहाँ जो ऑप्शन स्ट्रेटर्जी दी गयी हैं वह सरल तो हैं ही साथ ही साथ यह शुरुआती निवेशकों द्वारा भी काम में ली जा सकती हैं। यहाँ जटिल ऑप्शन रणनीतियां भी हैं जिसमें दो से चार लेनदेन चरण शामिल हैं। यहां इन-द-मनी, आउट-ऑफ-द-मनी और एट-द-मनी जैसे अलग-अलग कॉल और पुट ऑप्शन भी हैं।

अब तक आपने पढ़ा

  1. एक अस्थिर बाजार के लिए ऑप्शन रणनीति वे हैं जो व्यापारियों को जोखिम से बचने और लाभ कमाने में सक्षम बनाती हैं।
  2. लॉन्ग स्ट्रैडल स्ट्रैटर्जी: निवेशक एक ही समय में कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन खरीदता है। दोनों ऑप्शन में एक ही स्ट्राइक मूल्य और एक्सपायरी होनी चाहिए।
  3. एक लॉन्ग स्ट्रैंगल में, आप एक ही एक्सपायरी का आउट-ऑफ-द-मनी कॉल और आउट-ऑफ-द-मनी पुट ऑप्शन खरीदते हैं।
  4. एक बुल कॉल स्प्रेड एक ऑप्शन ट्रेडिंग रणनीति है जिसे स्टॉक के मूल्य में सीमित वृद्धि से लाभ कमाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।
  5. एक बुल पुट स्प्रेड एक ऑप्शन रणनीति है जो एक निवेशक तब उपयोग करता है जब वे अंतर्निहित एसेट की कीमत में मध्यम वृद्धि की उम्मीद करते हैं।
  6. एक मैरिड पुट रणनीति में, एक निवेशक एक एसेट खरीदता है - जैसे शेयर और साथ-साथ समान संख्या के शेयरों के लिए पुट ऑप्शन खरीदता है।
icon

अपने ज्ञान का परीक्षण करें

इस अध्याय के लिए प्रश्नोत्तरी लें और इसे पूरा चिह्नित करें।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo
Open an account