शुरुआती के लिए मॉड्यूल

ट्रेडिंग कैलेंडर

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

क्या ट्रेडिंग का मासिक पैटर्न होता है?

4.9

icon icon

हम हमेशा इस बारे में बात करते हैं कि व्यापारियों और निवेशकों के लिए निर्णय लेने के लिए ट्रेडिंग चार्ट कैसे और कितने जरूरी हैं । आजकल कई ट्रेडिंग चार्ट उभरे हैं, और हर चार्ट कई अलग-अलग तरह की जरूरत को पूरा कर रहा है, और यही चीज़ नए निवेशकों के लिए मुश्किल पैदा कर देती है क्योंकि उन्हें समझ ही नहीं आता है कि उनके लिए कौन-सा चार्ट बेहतर है । सफलतापूर्वक व्यापार करने के लिए, व्यापारियों में बाजार में पोजीशन लेने के लिए सामान्य और सांकेतिक चार्ट पैटर्न की पहचान करने का कौशल होना चाहिए ।   

हम इस अध्याय में, विभिन्न चार्ट पैटर्न पर चर्चा करेंगे और देखेंगे कि कैसे निवेशक और व्यापारी मासिक आधार पर इन चार्ट पैटर्न को फॉलो करके अपनी रिस्क-रिवॉर्ड की स्थिति को कैसे अनुकूलित सकते हैं । 

चार्ट पैटर्न, तकनीकी ट्रेडिंग का एक महत्वपूर्ण घटक है। वह इन दिए गए पॉइंट्स के लिए बहुक्रियाशील और उपयोगी होते हैं:

- बाजार ट्रेंड को पहचानें ताकि आप जान सकें कि आपको खरीदारी करनी या बिक्री

- नए प्रवेश और निकास बिंदुओं की खोज करें और ट्रेंड के गलत पक्ष में होने बचें

- अत्यधिक लाभदायक व्यापारिक अवसरों का पता लगाएं

मूल्य पैटर्न हमें जरूरी व्यापारिक अंतर्दृष्टि दे सकते हैं, पर अहम ये है कि आपको ये पता हो कि उन्हें कैसे पढ़ाना है व्यावहारिक ट्रेडिंग रणनीति बनाते समय किस तरह दूसरी विचारधारा और न्यूज़ के शोर को नजरअंदाज किया जाए । ट्रेडिंग चार्ट पैटर्न के इस चक्रव्यूह से निकलने के लिए, हमने आमतौर दिखने व काम में आने वाले पैटर्न की एक सूची तैयार की है जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए ।

तीन सबसे महत्वपूर्ण चार्ट प्रकार

पैटर्न की तरह ही, चार्ट के भी विभिन्न प्रकार हैं जो तकनीकी विश्लेषकों द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। तीन सबसे ज्यादा काम में लिए जाने वाले चार्ट इस प्रकार हैं -

लाइन चार्ट:

यह साधारण वित्तीय चार्ट हैं जिन्हें सामान्य प्राइस मूवमेंट को दिखाने के लिए क्लोजिंग प्राइस के बीच में बनाया जाता है । हालाँकि, यह चार्ट बार या कैंडलस्टिक चार्ट पैटर्न जैसी बारीक जानकारी नहीं देते हैं । इसलिए, पुष्टि के लिए इन्हें अधिक जानकारी देने वाले चार्ट के साथ उपयोग करना चाहिए। 

बार चार्ट: बार ट्रेडिंग चार्ट पैटर्न को ओसीएचएल चार्ट भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है ओपनिंग, क्लोजिंग, हाई, लो । लाइन चार्ट के विपरीत, यह ज्यादा विस्तृत हैं, जो व्यापारियों और निवेशकों को एसेट की प्राइस मूवमेंट के बारे में ज्यादा जानकारी देते हैं । 

कैंडलस्टिक चार्ट:

कैंडलस्टिक चार्ट लोकप्रिय ट्रेडिंग चार्ट हैं जो बार चार्ट की तरह दिखते हैं, लेकिन स्पष्ट रूप से दिन के हाई और लो पॉइंट को दर्शाते हैं। हर बेलनाकार (सिलेंड्रिकल) बॉडी दिन की ओपनिंग व क्लोजिंगग कीमत के बारे में बताती है, और वहीं ऊपरी और निचली शैडो क्रमशः एसेट के दिन के उच्च और निम्न स्तर का प्रतिनिधित्व करते हैं । 

11 महत्वपूर्ण चार्टिंग पैटर्न के बारे में जानिए -

  • हेड एंड शोल्डर फॉरमेशन)

यह एक खास फॉरमेशन है जो बीच में एक बड़ी चोटी और इसके दोनों ओर दो छोटी चोटियों को जोड़ती है । व्यापारी इन पैटर्न को बुलिश-टू-बियरिश ट्रेंड रिवर्सल का अनुमान लगाने के लिए देखते हैं ।

पहली और तीसरी चोटियाँ आमतौर पर दूसरी चोटी से छोटी होती हैं, और तीनों अंततः समर्थन सपोर्ट लाइन पर वापस आती हैं, जिसे नेकलाइन भी कहा जाता है । एक बार जब तीसरी चोटी वापस सपोर्ट लाइन पर गिरती है, तो व्यापारी इसे एक बेयरिश डाउनट्रेंड में ब्रेकआउट मानते हैं।

  • डबल टॉप और बॉटम पैटर्न

ट्रेंड रिवर्सल से पहले डबल टॉप और बॉटम शेप दिखाई देतीहैं । इन चरणों के दौरान, एसेट की कीमत ट्रेंड लाइन के दूसरी तरफ पार करने से पहले दो बार बढ़ती या गिरती है । डबल टॉप मूल्य वृद्धि में और फिर समर्थन लाइन पर वापस गिर जाते हैं, फिर बेयरिश डाउनट्रेंड से पहले फिर से उठते हैं ।

डबल बॉटम डबल टॉप के विपरीत है । डबल बॉटम में, ग्राफ मजबूत बिक्री की तरफ इशारा करता है, जिससे एसेट प्राइस सपोर्ट लाइन से नीचे गिर सकता है । प्रारंभिक गिरावट के बाद, मूल्य सपोर्ट लाइन से फिर से ऊपर उठता है और फिर दूसरी बार गिरता है । अंत में, मूल्य कीमत सपोर्ट लाइन से ऊपर उठती है और एक बुलिश ट्रेंड रिवर्सल में प्रवेश करती है।  

  • राउंडिंग बॉटम पैटर्न

राउंडिंग बॉटम, कई स्टॉक चार्ट पैटर्न में से एक है जो निरंतरता या रिवर्सल को दर्शाता है । सबसे आम रॉउंड बॉटम पैटर्न एक बुलिश रिवर्सल है । यह एक ’U’ की तरह दिखता है और विस्तारित डाउनट्रेंड के अंत में बनता है।

यह एक लॉन्ग-टर्म प्राइस मूवमेंट है जो कई हफ्तों या कई महीनों में बनता है । शुरुआती नीचे की ओर ढलान अतिरिक्त आपूर्ति या बिक्री का संकेत है, जो अंततः खरीदारों को कम कीमत पर बाजार में प्रवेश करने पर एक अपट्रेंड में परिवर्तित होती है । एक बार जब राउंड बॉटम का फॉर्मेशन पूरा हो जाता है, तो कीमतें ब्रेकआउट करती हैं और अपट्रेंड में आगे बढ़ती रहती हैं।

 

 कप और हैंडल

कप और हैंडल पैटर्न काफी हद तक राउंडेड बॉटम पैटर्न के जैसा ही है, सिवाय एक छोटे डाउनट्रेंड के जो एक कप के हैंडल की तरह दिखता है जो राउंड बॉटम के पूरा होने के बाद बनता है । छोटा बियरिश फेज थोड़ी देर के लिए एक कप के हैंडल से मिलती जुलती आकृति को इंगित करता है । इसलिए इस चार्ट का नाम कप एंड द हेंडल है । कप और हैंडल एक बुलिश रिवर्सल पैटर्न है, शॉर्ट बियरिश चरण को छोड़ कर, जिसके बाद बाजार में तेजी आती है।

  • वेजेस

वेजेस एक चार्ट पैटर्न है जहां दो ढलान वाली ट्रेंड लाइन अंत में मिल जाती हैं । यह या तो बढ़ने वाला या गिरने वाला पैटर्न हो सकता है । एक बढ़ते/ राइजिंग वेज में, प्राइस लाइन सपोर्ट और रेसिसटेंस लाइनों के बीच फंस जाती है, और दोनों दोनों ऊपर की ओर तिरछी होती हैं । इस स्थिति में, सपोर्ट लाइन की ढलान रेसिसटेंस लाइन की तुलना में ज्यादा खड़ी होती है । जब हुई बढ़ता हुआ वेज पैटर्न दिखाई देता है, तो निवेशक उम्मीद करते हैं कि एसेट की कीमत गिर जाएगी और अंततः सपोर्ट लाइन के नीचे ब्रेकआउट करेगी। 

इसके विपरीत, डाउनवर्ड वेज के लिए, प्राइस लाइन दो नीचे की ओर झुकाव वाली ट्रेंड लाइन के बीच होती है । रेसिसटेंस, सपोर्ट की तुलना में ज्यादा ढलान वाला होता है, यह दर्शाता है कि किसी एसेट की कीमत बढ़ रही है और संभवतः रेसिसटेंस स्तर से बाहर ब्रेकथ्रू करेगी। 

बढ़ता वेज बियरिश मार्केट से संबंधित है, और फॉलिंग वेज बुलिश मार्केट से।

  • पताका और झंडे

पताका या झंडे कॉम्पैक्ट त्रिकोणीय पैटर्न होते हैं जहाँ दो रेखाएँ एक निर्धारित बिंदु पर मिलती हैं । यह एक मजबूत अपट्रेंड या डाउनट्रेंड मूवमेंट के बाद बन सकता है, यह दर्शाता है कि ट्रेंड जारी रहने से पहले व्यापारियियों ने रुककर कंसोलिडेशन किया है। वेज और पेनिन समान दिख सकते हैं, लेकिन वह समान होते नहीं हैं । वेज पैनेन्ट्स की तुलना में संकीर्ण होते हैं और ट्रेंड रिवर्सल के सिग्नल होते हैं । वेजेस आमतौर पर ऊपर या नीचे की ओर होते हैं, जबकि पैनेन्ट्स हमेशा हॉरिजॉन्टल होते हैं।

कुछ व्यापारी ध्वज पैटर्न को पेनेटेंट्स से अलग मानते हैं । एक ध्वज पैटर्न में, ब्रेकआउट से पहले, सपोर्ट और रेसिसटेंस दोनों समानांतर रूप से चलती हैं, और फिर बाद में मौजूदा ट्रेंडलाइन की विपरीत दिशा में चली जाती हैं । पेनेटेंट के विपरीत, फ्लैग ट्रेंड रिवर्सल को इंगित करता है।

  • टाइएंगल शेप – असेंडिंग और डिसेंडिंग

एक आरोही ट्राइएंगल बुलिश ट्रेंड की निरंतरता को दर्शाता है । यह रेसिसटेंस स्तर के पार एक हॉरिजॉन्टल स्विंग लाइन रखकर और फिर नीचे की ओर एक अपवर्ड स्विंग लाइन या सपोर्ट लाइन को नीचे रखकर बनाया जा सकता है ।

इसके विपरीत, एक डाउनवर्ड ट्राइएंगलएक तबब बनता है जब रेसिसटेंस लाइन हॉरिजॉन्टल सपोर्ट लाइन के नीचे की ओर झुकती है। आखिरकार, एक अवरोही ट्राइएंगल सपोर्ट लाइन से ब्रेकआउट करता है और ट्रेडर एक शॉर्ट पोजीशन में प्रवेश कर सकते हैं ।

  • सिमिट्रिकल ट्राइएंगल

सिमिट्रिकल ट्राइएंगल ट्रेंड पैटर्न की निरंतरता है । ऐसा प्रतीत होता है जब बाजार लगातार उतार-चढ़ाव से गुजरता है, एक बिंदु तक पहुंचने के लिए कई चोटियों और गर्तों की एक श्रृंखला बनाता है । आरोही या अवरोही (असेंडिंग एंड डिसेंडिंग) ट्राइएंगल के विपरीत, सिम्मिट्रिकल ट्राइएंगल एक हॉरिजॉन्टल पैटर्न है ।

यह बाजार की अस्थिरता का सबसे अच्छा वर्णन करता है, जहां ट्रेंड रिवर्सल पर स्पष्टता के बिना, चल रहे ट्रेंड के दौरान विपरीत प्राइस मूवमेंट होता है। सिम्मिट्रिकल ट्राइएंगल पैटर्न बनने के बाद बाजार किसी भी दिशा में ब्रेकआउट सकता है।

  • चार्ट पैटर्न का निर्णय लेना

अलग- अलग विश्लेषक और व्यापारी पैटर्न को अलग-अलग तरीके से पढ़ते हैं। लेकिन बाजार में मूल्य आंदोलन का अध्ययन करने के लिए ट्रेंडलाइन उपयोगी हैं । ऊपर की ओर झुका हुआ ट्रेंडलाइन बताता है कि उच्च और निम्न पॉइंट के बीच, कीमत में काफी उतार-चढ़ाव है । इसी तरह, एक नीचे की ओर ढलान वाली ट्रेंडलाइन तब दिखती है जब कीमत लोअर हाई और लो के बीच चलती है ।

पैटर्न बनाते समय किन डाटा पॉइंट्स का इस्तेमाल करना चाहिए इससे जुड़े भी कई तर्क हैं। फॉर्मेशन के  पैटर्न और पोजीशन बाजार की भावना को भी दर्शाते हैं। विश्लेषकों के एक वर्ग का कहना है कि कैंडल बार का शरीर, न कि शैडो, को प्राइस लाइन के लिए उपयोग करना चाहिए । कुछ चार्ट बनाने वाले पैटर्न बनाने के लिए केवल समापन मूल्य का उपयोग करना भी पसंद करते हैं क्योंकि यह वह पोजीशन है जो निवेशक दिन के अंत तक बनाए रखना चाहते हैं ।

 निष्कर्ष

तो, क्या ट्रेडिंग का कोई एक मासिक पैटर्न है? आदर्श उत्तर यह है कि ऐसा कोई भी पैटर्न नहीं है । निवेशक एक विशेष परिस्थिति में लाभकारिता को अनुकूल करने के लिए चल रहे मार्केट ट्रेंड के साथ अपनी व्यापारिक रणनीतियों को अलाइन करते हैं ।

चार्ट पैटर्न यह समझने के लिए उपयोगी तकनीकी उपकरण हैं कि एसेट की कीमत एक निश्चित तरीके से व्यवहार क्यों करती है । ये बाजार सपोर्ट और रेसिसटेंस स्तर के संकेत हैं, जो व्यापारियों को एक लॉन्ग या शॉर्ट पोजीशन लेने में मदद करते हैं।

स्टॉक चार्ट पैटर्न का उपयोग मार्केट मूवमेंट का अध्ययन करने और रिस्क-रिवॉर्ड स्थितियों को मैनेज करने के लिए किया जाता है । व्यापारी बाजार में लाभदायक एंट्री की पहचान करने या डाउनट्रेंड होने पर बाहर निकलने की योजना बनाने के लिए चार्ट का उपयोग करते हैं। इसी के आधार पर, वह अपना स्टॉप-लॉस स्तर निर्धारित करते है ।

अब तक आपने पढ़ा

  • लाइन चार्ट सरल वित्तीय चार्ट हैं जो सामान्य मूल्य चाल को दिखाने के लिए क्लोजिंग प्राइस का उपयोग करते हैं।
  • बार चार्ट पैटर्न को OCHL चार्ट भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है ओपनिंग, क्लोजिंग, हाई, लो। लाइन चार्ट के विपरीत, ये अधिक विस्तृत हैं, जो व्यापारियों और निवेशकों को एसेट मूल्य चाल के बारे में अधिक जानकारी देते हैं।
  • कैंडलस्टिक चार्ट लोकप्रिय ट्रेडिंग चार्ट हैं जो बार चार्ट की तरह दिखते हैं लेकिन यह स्पष्ट रूप से दिन की ऊँचाई और चढ़ाव दिखाते हैं। प्रत्येक बेलनाकार शरीर दिन की शुरुआती और समापन मूल्य को दर्शाते हैं, जबकि ऊपरी और निचली शैडो क्रमशः एसेट के लिए दिन के उच्च और निम्न स्तर का प्रतिनिधित्व करते हैं।
  • हेड और शोल्डर फॉरमेशन एक खास फॉरमेशन है जो बीच में एक बड़ी चोटी और इसके दोनों ओर दो छोटी चोटियों को जोड़ती है। व्यापारी बुलिश-टू-बेयरिश ट्रेंड रिवर्सल का अनुमान लगाने के लिए इस पैटर्न को देखते हैं।
  • ट्रेंड रिवर्सल से पहले डबल टॉप और बॉटम पैटर्न शेप दिखाई देती है। इन चरणों के दौरान, एसेट की कीमत ट्रेंड लाइन के दूसरी तरफ पार करने से पहले दो बार बढ़ती या गिरती है।
  • वेज एक चार्ट पैटर्न है जहां दो ढलान वाली ट्रेंड लाइन अंत में मिल जाती हैं। यह या तो बढ़ने वाला पैटर्न हो सकता है या गिरने वाला।
  • सिमिट्रिकल टाइएंगल एक ट्रेंड पैटर्न की अगला चरण है। यह तब बनता है जब बाजार लगातार उतार-चढ़ाव से गुजरता है, एक बिंदु तक पहुंचने के लिए चोटियों और गर्तों की एक श्रृंखला बनाता है।
icon

अपने ज्ञान का परीक्षण करें

इस अध्याय के लिए प्रश्नोत्तरी लें और इसे पूरा चिह्नित करें।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo
Open an account