शुरुआती के लिए मॉड्यूल

निवेश विश्लेषण 101

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

विश्लेषक रिपोर्ट पर एक सिंहावलोकन

4.4

icon icon

जैसा कि आपने देखा, पिछले अध्याय में पूरा ध्यान कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट और उसके बहुत सारे सेक्शन पर था। इसके अलावा, आपने संभावित निवेशक के रूप में रिपोर्ट को समझना भी सीखा। इस अध्याय में हम अपना पूरा ध्यान विश्लेषक रिपोर्ट या एनालिस्ट रिपोर्ट पर रखेंगे। हम विश्लेषक रिपोर्ट के सभी सेक्शन को अलग-अलग करके, एक निवेशक के दृष्टिकोण से इसकी बारीकियों को समझने की कोशिश करेंगे।

विश्लेषक रिपोर्ट: एक नज़र में

आपको सबसे पहले यह जानना होगा कि शेयर विश्लेषक कौन होते हैं, इससे बाद हम इस बारे में बात करेंगे कि विश्लेषक रिपोर्ट क्या हैं?  मूल रूप से, स्टॉक विश्लेषक वे लोग हैं जो किसी कंपनी और उसके फाइनेंशल्स को समझने का काम करते हैं। एक निवेशक के दृष्टिकोण से कंपनी की वैल्यू का पता करने के लिए यह विश्लेषक, कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट और रेगुलेटरी फाइलिंग को पढ़ते और समझते हैं, कंपनी के प्रबंधन से बात करते हैं और यहां तक ​​कि उद्योग विश्लेषण   का काम भी करते हैं।

विश्लेषक यह सभी जानकारी के साथ कंपनी के भविष्य के प्रदर्शन और उसके शेयर की कीमत पर अपने अनुमानों को संकलित कर एक रिपोर्ट तैयार करते हैं।

तो, विश्लेषक रिपोर्ट क्या हैं?

विशेषज्ञ विश्लेषकों द्वारा तैयार और संकलित की गयी रिपोर्ट को आमतौर पर वित्तीय दुनिया में विश्लेषक रिपोर्ट के तौर पर जाना जाता है। इसमें लगभग हमेशा कंपनी की विश्लेषक रेटिंग शामिल होती है। और आमतौर पर स्टॉक विश्लेषक अपने विश्लेषण के हिसाब से कंपनी के शेयर को 'खरीदने या बेचने' की सलाह भी देते हैं। 

विश्लेषक रिपोर्ट को समझना

किसी कंपनी की विश्लेषक रिपोर्ट काफी व्यापक हो सकती है। यह आमतौर पर उन कई सेक्शन में विभाजित होती है जो कंपनी के विभिन्न पहलुओं के बारे में बताते हैं और उनका विश्लेषण करते हैं। इससे पहले कि हम इनकी बारीकियों में उतरें, हमें यह बात समझ लेनी चाहिए कि चूंकि इस रिपोर्ट का कोई निर्धारित फ़ॉर्मेट नहीं है, इसलिए इसकी संरचना का तरीका हर विश्लेषक के लिए अलग हो सकता है। हालांकि, कुछ ऐसे भाग हैं जो आमतौर पर ऐसी सभी रिपोर्ट में पाए जाते हैं। आइए उन पर एक नज़र डालें।

कंपनी का बैकग्राउंड

विश्लेषक की रिपोर्ट सबसे पहले आपको कंपनी के बारे में संक्षिप्त जानकारी देती है। इस सेक्शन में आमतौर पर कंपनी के बैकग्राउंड की जानकारी शामिल होती है जैसे कि कंपनी किस इंडस्ट्री में काम करती है, उसका प्राथमिक व्यवसाय, कंपनी के उप- ब्रांड, साथ ही साथ उसके उत्पादों और सेवाओं की जानकारी भी। जैसा कि आपने पिछले अध्याय में देखा होगा, इस सेक्शन की जानकारी, वार्षिक रिपोर्ट में कंपनी के ओवरव्यू से काफी मिलती-जुलती है। हालांकि, इस रिपोर्ट में यह मामले विश्लेषक के दृष्टिकोण से दिए गए होते हैं।

कंपनी के शेयर की मुख्य जानकारी -

इस अनुभाग में कंपनी के स्टॉक के बारे में कुछ अहम जानकारी शामिल होती है जैसे वर्तमान बाज़ार मूल्य (सीएमपी), शेयर के 52 सप्ताह के उतार-चढ़ाव और रिपोर्ट को प्रकाशित करने के वक्त पर कंपनी का मार्केट केपिटिलाइजेशन। इसमें कुछ ज़रूरी फाइनेंशल वैल्यू रेशियो भी शामिल हो सकती हैं जैसे शेयरों की बुक वैल्यू, प्राइस टू अर्निंग्स रेशियो और डिविडेंड। आप इस मॉड्यूल के अंत में दिए गए शब्दकोष में इनमें से कुछ रेशियो के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं।

प्रबंधन की जानकारी

प्रबंधन की जानकारी का सेक्शन आपको कंपनी के प्रमुख प्रबंधकीय कर्मियों(KMP) से परिचित कराता है, जो कंपनी के दिन-प्रतिदिन के कार्यों के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। इस सेक्शन में आमतौर पर प्रबंधकीय कर्मियों के नाम, उनके पद और उनकी योग्यताओं की जानकारी होती है।

इंडस्ट्री डाटा

विश्लेषक की रिपोर्ट में एक सेक्शन ऐसा भी होता है जिसमें वह इंडस्ट्री की बात करता जिसके अंतर्गत वह कंपनी आती है। आमतौर पर, इसमें भारतीय और वैश्विक इंडस्ट्री डाटा, दोनों शामिल होते हैं जैसे कि बाज़ार में कंपनी की हिस्सेदारी, बिक्री के आंकड़े और अन्य रुझान। निवेशकों की बेहतर समझ के लिए, इन रिपोर्टों में कभी-कभी अन्य संबंधित उद्योगों के साथ तुलनात्मक डाटा भी शामिल होता है।

वित्तीय सारांश (फाइनेंशल समरी)

विश्लेषक रिपोर्ट का एक प्रमुख हिस्सा आपको कंपनी के वित्तीय सारांश के बारे में जानकारी देता है। चूंकि यह कंपनी की वित्तीय स्थिति से जुड़ा है, एक निवेशक के तौर पर आपको इस सेक्शन पर अपना ज्यादा ध्यान लगाना चाहिए।

विश्लेषक रिपोर्ट में आमतौर पर आपको केवल कंपनी के आय डाटा, जैसे बिक्री, मुनाफा और प्रति शेयर आय (ईपीएस) और अन्य वित्तीय अनुपातों का डाटा मिलता है। ज़्यादातर बार, कंपनी के आय की तुलना पिछले वर्षों के आय की जानकारी से की जाती है ताकि आपको यह पता चल सके कि कंपनी को कितना मुनाफ़ा या घाटा हुआ है।

 

कंपनी द्वारा लिए गए अवसर और जोखिम

विश्लेषक रिपोर्ट का यह सेक्शन मुख्य रूप से कंपनी द्वारा सामना लिए गए विभिन्न अवसरों और खतरों पर केंद्रित है। आपको याद होगा ही कि कंपनी द्वारा तैयार की जाने वाली वार्षिक रिपोर्ट में भी एक ऐसा ही सेक्शन होता है। हालांकि वार्षिक और विश्लेषक दोनों रिपोर्टों में यह सेक्शन समान क्षेत्रों को ही देखते है बस दोनों का नज़रिया अलग होता है।

एक वार्षिक रिपोर्ट में, आपको कंपनी के आंतरिक नज़रिए से जोखिम और अवसर देखने को मिलते हैं। हालाँकि, एक विश्लेषक की रिपोर्ट में, यह खंड आपको बाहरी व्यक्ति का नज़रिया देता है। वे काफी हद तक समान हो सकते हैं, लेकिन एक विश्लेषक उन कुछ जोखिमों या अवसरों की पहचान करने में सक्षम हो सकता है, जो कंपनी नहीं कर पाती। इसी तरह, इसका उल्टा भी संभव हो सकता है।

इसलिए, संभावित अवसरों और खतरों के बारे में व्यापक दृष्टिकोण प्राप्त करने के लिए इन दोनों रिपोर्टों को पढ़ना एक अच्छा आइडिया है।

स्टॉक पर सलाह (स्टॉक रेकमेंडेशन)

जैसा कि हमने पहले ही इस अध्याय की शुरुआत में बताया है, लगभग सभी विश्लेषक रिपोर्टों में स्टॉक की सलाह पर एक सेक्शन होता है। यह सेगमेंट मूल रूप से कंपनी के स्टॉक को रेटिंग देता है और आपको बताता है कि आपको कंपनी के स्टॉक को 'खरीदना', 'बेचना' या 'होल्ड' करना चाहिए। स्टॉक की सिफारिश के अलावा, यह सेक्शन इसके साथ शेयर मूल्य लक्ष्य, स्टॉप लॉस लक्ष्य और उन लक्ष्यों के लिए समय सीमा के बारे में भी विश्लेषक की उम्मीदों या यूं कहे की विश्लेषक की राय भी बताता है।

निवेश का आधार

एक निवेशक के रूप में,  विश्लेषक रिपोर्ट का यह सेक्शन शायद आपके लिए सबसे ज़रूरी सेक्शन है। निवेश का आधार बताने वाले इस खंड में विश्लेषक अपनी स्टॉक सलाह के नतीजे पर पहुंचने के पीछे का आधार या वजह बताता है। यह आपको शेयर विश्लेषक की सोच और विश्लेषणात्मक प्रक्रियाओं की एक गहरी समझ देता है। चूंकि विश्लेषण की तकनीकें एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच अलग-अलग हो सकती हैं, यह सेक्शन अनिवार्य रूप से विश्लेषक के निष्कर्ष का कारण बताता है। 

कहते हैं कि, जब निवेश का निर्णय लेने की बात आती है, तो केवल एक विश्लेषक की रिपोर्ट पर भरोसा करना एक अच्छा आइडिया नहीं होता। इस रिपोर्ट को रिसर्च मटिरियल के एक हिस्से के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए। हमेशा किसी कंपनी में निवेश करने का निर्णय लेने से पहले अपने दम पर पर्याप्त रिसर्च हमेशा करनी ही चाहिए।

निष्कर्ष

अब तक, हमने देखा कि कैसे कंपनी की वित्तीय रिपोर्ट, वार्षिक रिपोर्ट और थर्ड-पार्टी रिपोर्ट आपको निवेश विश्लेषण (इनवेस्टमेंट एनलाइसिस) के लिए ज़रूरी जानकारी दे सकती हैं। पर सोचिए क्या होगा अगर ये जानकारी वास्तव में उपयोगी ही ना हो तो? क्या होगा अगर यह वास्तव में आपको किसी एसेट और उसके भविष्य की संभावनाओं के बारे में ज्यादा कुछ ना बता पाएँ तो?

एक ऐसा ही सिद्धांत है जो इस पहलू को देखता है और उसी सिद्धांत के बारे में हम अगले अध्याय में जानेंगे। 

अब तक आपने पढ़ा:

  • शेयर विश्लेषक वे लोग हैं जो अपना समय किसी कंपनी और उसकी वित्तीय स्थिति को जानने और समझने के लिए समर्पित करते हैं।
  • वे एक रिपोर्ट के रूप में, कंपनी के भविष्य के प्रदर्शन और उसके शेयर मूल्य पर अपने अनुमान से जुड़ी जानकारी को संकलित करते हैं।
  • विश्लेषक की रिपोर्ट पहले आपको कंपनी के बारे में संक्षिप्त जानकारी देती है। इस भाग में आमतौर पर कंपनी के बैकग्राउंड की जानकारी शामिल होती है जैसे कि कंपनी किस उद्योग में काम करती है, उसका प्राथमिक व्यवसाय, उसके उप-ब्रांड, साथ ही साथ उसके उत्पादों और सेवाओं की जानकारी भी मिलती है।
  • रिपोर्ट में कंपनी के स्टॉक के बारे में मुख्य विवरण जैसे कि वर्तमान बाज़ार मूल्य (सीएमपी), स्टॉक की 52 सप्ताह के उतार-चढ़ाव की रिपोर्ट और रिपोर्ट को प्रकाशित करने की तारीख तक कंपनी का मार्केट कैपिटलाइज़ेशन के बारे में बताती है। 
  • प्रबंधन की जानकारी का अनुभाग आपको कंपनी के प्रमुख प्रबंधकीय कर्मियों (केएमपी) से परिचित कराता है, जो कंपनी के दिन-प्रतिदिन के कार्यों के लिए ज़िम्मेदार हैं।
  • विश्लेषक की रिपोर्ट में एक ऐसा खंड भी शामिल है जो उस उद्योग के बारे में बताता है जिसके अंतर्गत कंपनी काम करती है।
  • विश्लेषक रिपोर्ट का एक प्रमुख हिस्सा आपको कंपनी का वित्तीय सारांश देता है।
  • यह आपको कंपनी द्वारा लिए गए अवसरों और खतरों के बारे में बताता है।
  • स्टॉक सलाह के लिए एक सेगमेंट है, जहां विश्लेषक कंपनी के स्टॉक को रेट करता है और आपको बताता है कि आपको कंपनी के स्टॉक को 'खरीदना', 'बेचना' या 'होल्ड' करना चाहिए।
  • इसके बाद निवेश की वजह पर एक सेगमेंट होता है, जो विश्लेषक की दी गई स्टॉक सलाह के पीछे के कारणों के बारे में बताता है।
icon

अपने ज्ञान का परीक्षण करें

इस अध्याय के लिए प्रश्नोत्तरी लें और इसे पूरा चिह्नित करें।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo
Open an account