निवेशक के लिए मॉड्यूल

स्पेक्टर से लेकर शेयरहोल्डर तक

ज्ञान की शक्ति का क्रिया में अनुवाद करो। मुफ़्त खोलें* डीमैट खाता

* टी एंड सी लागू

पोर्टफोलियो मैनेजर की भूमिका क्या है?

4.6

icon icon

किसने कहा कि आपको खुद से निवेश करने की जरूरत है? शेयर बाजार की दुनिया बहुत बड़ी है, जिसमें कई निवेश उत्पाद मौजूद हैं। हां, निवेश का ज्ञान फायदेमंद जरूर हो सकता है लेकिन शायद आप सभी लाभकारी मौकों को ना पहचान पाएं। यही कारण है कि आप एक पोर्टफोलियो मैनेजर का उपयोग कर सकते हैं।

पोर्टफोलियो प्रबंधक पेशेवर होते हैं जो आपके निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करते हैं। वे अपना अधिक समय वर्तमान घटनाओं और वित्तीय बाजारों पर शोध करने में बिताते हैं और वे बाजार के विकास पर चर्चा करने के लिए विश्लेषकों से नियमित रूप से मिलते रहते हैं। निवेश बैंकों के विश्लेषक पोर्टफोलियो प्रबंधकों को निवेश के आइडिया पेश करते हैं। इसके बाद प्रबंधक इस जानकारी का अध्ययन करते हैं और ये फैसला करते हैं कि मुनाफा बढ़ाने के लिए किस सिक्योरिटी को खरीदना है और किसे बेचना है। 

पोर्टफोलियो मैनेजर क्या करता है?

तो किस तरह पोर्टफोलियो प्रबंधक अपने ग्राहकों के वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने में मदद करते हैं? ज्यादातर मामलों में पोर्टफोलियो प्रबंधक निम्नलिखित कदम उठाते हैं:

  1. ग्राहक के उद्देश्य का निर्धारण करते हैं

शेयर मार्केट से लोगों की अपनी अलग-अलग अपेक्षाएं होती हैं। कुछ व्यक्ति लंबी अवधि के लिए छोटी रकम खर्च करना चाहते हैं, जबकि संस्थागत निवेशकों के पास लंबे समय की निवेश सीमा के साथ मोटी जेब होती है। पोर्टफोलियो प्रबंधक अपने ग्राहकों के अपेक्षित रिटर्न और जोखिम झेलने की क्षमता को जानने के लिए उनसे बातचीत करते हैं। 

  1. सर्वश्रेष्ठ एसेट को चुनना

उसके बाद प्रबंधक ग्राहक के निवेश लक्ष्यों के आधार पर सबसे उपयुक्त एसेट वर्गों जैसे इक्विटी, बॉन्ड, रियल एस्टेट, निजी इक्विटी आदि निर्धारित करते हैं।

  1. एसेट का आवंटन करना

पोर्टफोलियो को समय-समय पर संतुलित करने की आवश्यकता होती है, क्योंकि विभिन्न एसेट से अप्रत्याशित रिटर्न के कारण पोर्टफोलियो में एसेट का महत्व बदलता रहता है। पोर्टफोलियो प्रबंधक निवेश अवधि की शुरुआत में एसेट वर्ग आवंटित करते हैं ताकि पोर्टफोलियो का जोखिम और रिटर्न ग्राहक की इच्छा के अनुकूल हो।

  1. जोखिम का प्रबंधन

हर एसेट वर्ग का महत्व निर्धारित करने पर पोर्टफोलियो प्रबंधकों का सुरक्षा चयन जोखिम की मात्रा पर नियंत्रण हो जाता है। एक पोर्टफोलियो प्रबंधक का सुरक्षा चयन जोखिम से बचने का एकमात्र तरीका सीधे बाजार सूचकांक को होल्ड करना हो सकता है। यह सुनिश्चित करता है कि प्रबंधक का एसेट वर्ग का रिटर्न वैसा ही हो जैसा कि एसेट वर्ग बेंचमार्क का होता है।

  1. प्रदर्शन को मापें

पोर्टफोलियो का प्रदर्शन पूंजी परिसंपत्ति मूल्य निर्धारण मॉडल (कैपिटल एसेट प्राइसिंग मॉडल) के माध्यम से मापा जा सकता है। इसका उपयोग पूरी वित्तीय दुनिया में जोखिम भरी सिक्योरिटीज के मूल्य निर्धारण और एसेट के जोखिम और पूंजी की लागत को देखते हुए संपत्ति के लिए अपेक्षित रिटर्न निर्धारित करने के लिए किया जाता है।

 

पोर्टफोलियो मैनेजरों से क्या उम्मीद की जाए?

पोर्टफोलियो प्रबंधकों के पास दैनिक आधार पर अहम निर्णय लेने और रिपोर्टों को पढ़कर उनका विश्लेषण करने जैसा काम होता है। पोर्टफोलियो प्रबंधन क्षेत्र में सफलता के लिए कई आवश्यक कौशल हैं लेकिन यहां चार सबसे महत्वपूर्ण कौशल बताए गए हैं:

उन्नतिशील: सभी पोर्टफोलियो प्रबंधक सूचकांक और समाचार देखते और फॉलो करते हैं। वे अलग और नवीन तरीकों से रिसर्च करते हैं और जानते हैं कि संभावित निवेशों के बारे में वो जानकारी कहां से प्राप्त करें जो कि बाकियों के पास ना हो। जो निवेशक बाकियों से छिपे निवेश  अवसर ढूंढ लेते हैं उन्हें अक्सर अच्छा मुनाफा होता है।

महत्वपूर्ण विचारक: पोर्टफोलियो प्रबंधकों को हर संभावित निवेश निर्णय के लिए शक्तियों, कमजोरियों, अवसरों और खतरों के बारे में सोचने में सक्षम होना चाहिए। वित्तीय विश्लेषकों और अन्य शोध की रिपोर्टों का विश्लेषण करने के लिए पोर्टफोलियो प्रबंधकों के पास विचार करने का मजबूत कौशल होना चाहिए।

निर्णयात्मक: एक पोर्टफोलियो प्रबंधक होने का अर्थ है कई निवेश निर्णय लेना। इस उद्योग में कभी कोई निश्चितता नहीं होती; इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि पोर्टफोलियो प्रबंधक विकल्पों का मूल्यांकन करने और आत्मविश्वास के साथ निर्णय लेने में माहिर हों।

अनुभव: एक पोर्टफोलियो मैनेजर बनने के लिए सबसे पहले एक वित्तीय विश्लेषक के रूप में काम करने और महत्वपूर्ण निवेश अनुभव प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। रिसर्च विश्लेषकों के निर्णय पोर्टफोलियो प्रबंधकों को सूचित करते हैं। एक विश्लेषक के रूप में अनुभव प्राप्त करने से लोगों को एक पोर्टफोलियो मैनेजर के जीवन को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है।

निष्कर्ष

अब जब आप एक पोर्टफोलियो मैनेजर की भूमिका के बारे में जान गए हैं, तो उन 10 बातों के बारे में जानते हैं जिन्हें इक्विटी पोर्टफोलियो बनाते समय ध्यान में रखना चाहिए। ये बातें जानने के लिए अगले अध्याय पर जाएं।

अब तक आपने पढ़ा

  1. पोर्टफोलियो प्रबंधक पेशेवर हैं जो आपके निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करते हैं।
  2. पोर्टफोलियो प्रबंधक विकल्पों का मूल्यांकन करने और आत्मविश्वासपूर्ण निर्णय लेने में बेहतर हों।
  3. वे वर्तमान घटनाओं और वित्तीय बाजारों पर शोध करने में बहुत समय बिताते हैं और वे बाजार के घटनाक्रम के विकास पर चर्चा करने के लिए विश्लेषकों के साथ नियमित रूप से मिलते हैं।
  4. पोर्टफोलियो प्रबंधक ग्राहक के उद्देश्यों की पहचान करते हैं और उनके पोर्टफोलियो के लिए सर्वोत्कृष्ट संपत्ति चुनते हैं।
icon

अपने ज्ञान का परीक्षण करें

इस अध्याय के लिए प्रश्नोत्तरी लें और इसे पूरा चिह्नित करें।

आप इस अध्याय का मूल्यांकन कैसे करेंगे?

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo
Open an account