ग्रीन यानि हरित भविष्य की ओर बढ़ते कदम और इसका बाज़ार पर प्रभाव

02:00 Mins Read

यह वीडियो हरित ऊर्जा विकल्पों और उनके भविष्य के बारे में बात करता है

Transcript

ग्रीन यानि हरित भविष्य की ओर बढ़ते कदम और इसका बाज़ार पर प्रभाव क्या कच्चा तेल ही भविष्य है? इस बात का ध्यान रखते हुए कि तेल एक नॉन-रिन्यूएबल रिसोर्स (Non-renewable resource) यानी अनवीकरणीय स्त्रोत है, इसका एक दिन ख़त्म होना निश्चित है| इसलिए हमें अभी से ग्रीन भविष्य की ओर कदम बढ़ाना चाहिए जहां हम पवन, पानी और सोलर एनर्जी जैसे क्लीन सोर्सेज का इस्तेमाल करें| आज न सिर्फ भारत पर दुनिया भर में कई ऐसी कंपनियां हैं जो स्वच्छ ऊर्जा का इस्तेमाल करती हैं| इनमें टेस्ला का नाम सबसे ऊपर है, जिसने इस क्षेत्र में तेज़ी से अपनी पहचान बनाई है| वर्तमान समय में यह न केवल विश्व की सबसे मूल्यवान ऑटोमोटिव कंपनी है, बल्कि सबसे स्वच्छ ऊर्जा कंपनी भी है| 1 अप्रैल, 2021 को टेस्ला का मार्किट कैप यानी बाज़ार पूंजीकरण 638 बिलियन डॉलर था| इसके विपरीत जनरल मोटर्स का मार्केट कैप लगभग 80 बिलियन डॉलर है और फोर्ड मोटर्स का लगभग 50 बिलियन डॉलर है| भारत में भी हरित ऊर्जा क्षेत्र में तेज़ी से विकास हो रहा है| टाटा पावर और सुज़लॉन एनर्जी (Suzlon energy) जैसी कंपनियां हवा, पानी और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में कदम बढ़ा रही हैं| देश में ग्रीन एनर्जी क्षेत्र के विकास के लिए विदेशी निवेशक भी आगे आ रहे है| CRISIL के मुताबिक, वैश्विक निवेश से भारत की रिन्यूएबल ऊर्जा क्षमता 2023 में लगभग 35 GW तक पहुँच सकती है| ESG निवेश में लगातार बढ़ोतरी के कारण स्टॉक मार्केट में भी हरित ऊर्जा क्षेत्र में निवेशकों की रुचि बढ़ने की सम्भावना है| आने वाले समय में यह निश्चित रूप से निवेशकों और ग्राहकों के लिए अत्यंत रुचि का क्षेत्र साबित होगा|

दिमागीपन! जानकारी लो

बाजार के साथ पकड़

60 सेकंड में समाचार।


किसी भी समय और कहीं भी अपनी सीखने की यात्रा शुरू करने और उसके साथ बने रहने के लिए एकदम सही स्टार्टर।

वेबसाइट देखे
logo logo

दिमागीपन! जानकारी लो

बाजार के साथ पकड़

60 सेकंड में समाचार।

logo

किसी भी समय और कहीं भी अपनी सीखने की यात्रा शुरू करने और उसके साथ बने रहने के लिए एकदम सही स्टार्टर।

logo

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo
Open an account